औरैया (दीपक कुमार पाण्डेय)

 

पिछले सात वर्षो से विभागीय प्रशिक्षण कराए जाने की मांग कर रहे संविदा एमपीडब्ल्यू कर्मियों ने मंगलवार को भाजपा जिला कार्यालय पहुँचकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतन्त्र देव सिंह को संबोधित ज्ञापन जिलाध्यक्ष श्रीराम मिश्रा के लखनऊ चले जाने के कारण भाजपा जिलाध्यक्ष प्रतिनिधि ब्रजेश बंधु को सौपा।एमपीडब्ल्यू के जिलाध्यक्ष सचिन गुप्ता ने बताया पिछले 27 जुलाई सन 2021 से महानिदेशालय परिवार कल्याण परिसर लखनऊ में अनिश्चित कालीन सत्याग्रह आंदोलन चल रहा है।एन एच एम द्वारा वर्ष 2011-12 में भारत सरकार के मेमोरेंडम के आधार पर प्रदेश में लगभग 3500 संविदा एमपीडब्ल्यू के हाई रिस्क एरिया में संक्रामक रोगों की रोकथाम के लिए नियुक्त किया गया था।तत्सम विभाग द्वारा एमपीडब्ल्यू गाइड लाइन 2010 में निर्धारित एक वर्षीय प्रशिक्षण के स्थान पर मात्र 10 दिवसीय प्रशिक्षण कराया गया था।जिलाध्यक्ष के अनुसार अगर एमपीडब्ल्यू का प्रशिक्षण गाइड लाइन के अनुसार एक वर्ष का करवाया जाता तो वर्ष 2019-20 में आयुष्मान योजना के अंतर्गत हैल्थ एन्ड वेलनेस उपकेंद्रों पर जो 11493 एमपीडब्ल्यू के पद सृजित किये गए हैं जिनकी योग्यता इंटरमीडिएट के साथ एक वर्षीय प्रशिक्षण की निर्धारित की गई है।उन पदों पर एमपीडब्ल्यू की नियुक्ति होती और आज जो एमपीडब्ल्यू के कर्मी तीन वर्षों का अनुभव लिए बेरोजगारी और भुखमरी से जूझ रहे हैं।उनको इसका सामना नही करना पड़ता क्योकि एमपीडब्ल्यू की योग्यता इंटरमीडिएट है एवम जिला स्वास्थ्य सीमित के माध्यम से उनका पूर्व में चयन हुआ था।विभागीय शासनादेश 23 जुलाई 1981 के अनुसार 3000 से 5000 की आबादी पर एक स्वास्थ्य कार्यकर्ता पुरूष का मानक प्रावधानित है इस हिसाब से अब तक कुल स्थापित 20573 स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर इतने ही स्वास्थ्य कार्यकर्ता पुरुष तैनात किए जाने है।परंतु स्थापित 20573 उपकेंद्रों के सापेक्ष स्वास्थ्य कार्यकर्ता पुरूष के मात्र 9080 नियमित पद सृजित है।जिनमें वर्तमान में मात्र 1833 नियमित स्वास्थ्य कार्यकर्ता एमपीडब्ल्यू कार्यरत हैं तथा 7247 नियमित पद पिछले 32 वर्षों से रिक्त है।उक्त प्रकरण विधानसभा की याचिका सीमित में भी विचाराधीन है याचिका सीमित के क्रम में शासन के निर्देश पर महानिदेशक परिवार कल्याण ने 24 दिसम्बर 2019 को 5 सदस्यी सीमित गठित कर संविदा एमपीडब्ल्यू को प्रशिक्षण कराए जाने का निर्णय लिया था।
अपनी इस मांग को लेकर एमपीडब्ल्यू कार्यकर्ताओ ने अपने ज्ञापन के माध्यम से भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेताओं से अपने लिए न्याय की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से जिलाध्यक्ष सचिन गुप्ता, पंकज कुमार, हरीश,शरद सेंगर, आकाश, रमाकांत,इरफान उल्ला, शफाकत अली,प्रवीन गुप्ता, उदयवीर, देवर्षि, दीपक कुमार, प्रताप सिंह, सीपी प्रभाकर आदि लोग मौजूद रहे।

फोटो – जिलाध्यक्ष प्रतिनिधि व कार्यालय मंत्री को ज्ञापन देते एम पी डब्लू कार्यकर्ता