निष्पक्ष जन अवलोकन। रामानन्द गुप्ता ।
बाराबंकी। आर पी एस कॉलेज ऑफ फार्मेसी इंडस्ट्रियल एरिया कुर्सी रोड बबुरीगांव के चेयरमैन व पर्यावरण प्रेमी राज प्रताप सिंह द्वारा 05 हजार नीम के पौधों का रोपण करवाया गया
पौध रोपण से पूर्व पर्यावरण जागरूकता  संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के  मुख्य अतिथि पूर्व सांसद राज्यसभा , जुगल किशोर ने बृहद नीम पौध रोपण की इस मुहिम की सराहना की
और इसे पर्यावरण के प्रति योगदान देने वाला सराहनीय कदम बताया।कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि विधायक राम नगर शरद कुमार अवस्थी ने नीम के पौध रोपण अभियान की सराहना करते हुए कहा कि हम सभी को पौध रोपण करके हरियाली को बचाने का प्रयास करना चाहिए। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे बाराबंकी भाजपा के जिला अध्यक्ष अवधेश श्रीवास्तव ने कहा कि नीम की गुणवत्ता किसी से छिपी नही है। कोरोना काल में सब नीम के पौध वाली गिलोय ही ढूढते नजर आये इसलिये नीम के पौध का रोपण का यह अभियान बहुत ही सराहनीय कार्य है।
इस संगोष्ठी में डॉ वी के सिंह , नीम रत्न चेयरमैन , ग्लोबल नीम ऑर्गनाइजेशन लखनऊ , ने नीम के औषधीय गुण और नीम की खूबियों को बताया और इससे मिलने वाले स्वरोजगार की जानकारी भी प्रदान की
संगोष्ठी में आये डॉ एच पी सिंह , नीम विशेषज्ञ , बीएच यू वाराणसी ,  ने बताया कि नीम तमाम प्रकार की बैक्टीरिया और फफूंद नाशक है इसको अनेक प्रकार से हम प्रयोग में ला सकते है
इस मौके पर इफ्को वितरण के राज्य प्रभारी अभिमन्यु राय ने यूरिया में नीम के प्रयोग की महत्ता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि इफ्को नीम पर लगातार शोध कर रही है और इफ्को द्वारा नीम युक्त नैनो यूरिया तैयार की गई है जिससे मृदा और जल प्रदूषण भी कम से कम होगा और खेतों में फसल की उपज अधिक होगी और लागत कम आएगी। इसके अलावा भाग्योदय फाउंडेशन के चेयरमैन ने भी अपने विचार रखे। अंत में कार्यक्रम के आयोजक राज प्रताप सिंह ने अतिथियों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि कोरोना की दूसरी लहर में ऑक्सीजन के लिये हजारों लाखों लोग बेहाल रहे इस ऑक्सीजन को सुलभ तरीके से हम अधिक से अधिक पौध लगाकर और उनका सरंक्षण करके पौधों से पर्याप्त  ऑक्सीजन प्राप्त कर सकते हैं। वृक्ष हमें प्राणदायनी ऑक्सीजन के साथ साथ हमारी अनेक जरूरतों को भी पूरा करते है ।