औरैया(दीपक कुमार पाण्डेय) कंचौसी में गोशाला ना होने से सड़को पर घूम रहे हैं आवारा जानवर।

आवारा गोवंश कंचौसी में गोशाला निमार्ण न होने से सड़कों पर घूमकर लोगो को चोट पहुचा रहे हैं और किसानों की फसलों को चट कर रहे हैं पिछले वर्ष अन्ना साड़ के हमले से शिकार हुए नौंगवा निवासी राम किशुन की मौत के बाद शायद प्रशासन को नगर व उसके आसपास कोई गौशाला बनाने की सुध नही ली । इससे पहले कस्बे के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र , झीझक रोड , प्राथमिक विद्यालय साहपुर , बिनपुरापुर , अघारा एवम रेलवे स्टेशन के विश्राम घर मे किसानो की फसल उजाड़ने से परेशान लोगो ने मबेशी बंद कर रखे थे। जिन्हे कई दिन बाद तहसील व पुलिस के अधिकारियो ने गौशाला निमार्ण का आश्वासन देकर छुड़ाया था । लेकिन आज तक गोशाला निर्माण को लेकर ठोस कदम नही उठाया गया।
पिछले वर्ष कृषि राज्य मंत्री लाखन सिह राजपूत पैदल यात्रा के समय यह मांग जोर सोर से उठी थी जिस पर मंत्री व साथ चल रहे तब तत्कालीन एसडीएम औरेया अनुपम शुक्ला ने भाग्य नगर ब्लाक के गांव कंचौसी व जमौली मे शीघ्र गौशाला चालू होने की जानकारी दी थी। जिसके लिए जगह चिन्हित होने की जानकारी दी थी इससे पहले सहार ब्लाक के गांव मधवापुर मे गौशाला निमार्ण की घोषणा शासन द्वारा पहले ही कि जा चुकी है ।लेकिन आजतक गोशाला निर्माण के लिये जमीन तक नही चिन्हित की गई । दोनो जिलो की सीमा मे आसपास कोई गौशाला नही है जब कि आवारा गौवंश की संख्या कई हजारो मे है जो रात दिन किसानो की फसल चरने के साथ आने जाने वालो के लिए प्राण घातक बन गए है ।
राजू , मोतीलाल , रामसिंह , बालक राम , अरविंद आदि किसानों ने आवारा जानवरों को पकड़कर प्रशासन से कही सुरक्षित जगह पर छोड़ने की मांग की है जिससे उनकी फसले सुरक्षित रहे।